मोबाइल फोन पर भी अपलोड हो सकेंगी बेसिक की किताबें, विभाग की नई पहल से बच्चों को मिलेगी सुविधा

आजमगढ़। बेसिक शिक्षा विभाग ने एक नई पहल की है। स्कूलों में पढ़ाई करने वाले बच्चों की किताबों का पाठ्यक्रम अब मोबाइल पर भी अपलोड हो सकेगा।

विभाग ने सभी विषयों के किताबों का क्यूआर कोड (क्वीक रस्पांस अर्थात त्वरित प्रतिक्रिया कोड) जारी  कर दीक्षा एप पर डाल दिया है। बच्चे मोबाईल के माध्यम से क्यूआर कोड की एप में डालकर एक क्लिक पर पूरा पाठयक्रम डाउनलोड कर सकते हैं। 
जिले में 2702 परिषदीय विद्यालय संचालित हैं। इनमें 1220 प्राथमिक, 528 उच्च प्राथमिक एवं 454 कंपोजिट विद्यालय है। इसके अलावा 21 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के लगभग सवा चार लाख बच्चों को निशुल्क पाठ्य पुस्तकें दी जानी है। जिले में कुल 28 लाख 85 हजार 976 पुस्तकें जिले को उपलब्ध कराई जानी है। अब तक जिले में कुल चार लाख 58 हजार 681 पुस्तकें आ चुकी है। विभाग ने  अधिकांश स्कूलों में अभी बच्चों को किताबें तक नहीं मिल सकी है। ऐसे  में शासन ने अब बच्चों की पढ़ाई करने के लिए ऑनलाइन पाठ्यक्रम की सुविधा भी मुहैया करा दी गई है। शासन ने जो किताब भेजी हैं, उस पर एक क्यूआर कोड डाला गया है बच्चे उस क्यूआर कोड को विभाग को एप में डालकर पूरा पाठ्यक्रम डाउनलोड कर सकते हैं। इसमें अलग-अलग कक्षाओं की  किताबों का अलग-अलग पाठ्यक्रम   डाला गया है। बच्चों को पहले इस कोड को स्कैन करना होगा।

Similar Posts