संपूर्णानंद विश्वविद्यालय की डिग्री के सहारे नौकरी पाने वाले शिक्षक तलब

प्रयागराज फर्जी अभिलेखों के आधार पर बेसिक शिक्षा विभाग में नौकरी प्राप्त करने वालों की जांच तेज हो गई है। 2004 से 2014 के बीच बेसिक शिक्षा विभाग में नौकरी प्राप्त करने वाले ऐसे लोग, जिन्होंने संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय या उससे संबद्ध विद्यालय से बीएड किया है, सभी को अभिलेखों के साथ तलब किया जा रहा है।

बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी ने सभी बीईओ को निर्देशित किया है कि उन सभी शिक्षकों को सचिव अपर पुलिस अधीक्षक विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) मुख्यालय लखनऊ भेजा जाए। जिनके पास संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय की डिग्री है। यह कदम इसलिए उठाया जा रहा है कि पिछले दिनों अभिलेखों का सत्यापन कराया गया उसमें कई अनियमितताएं मिलीं। अब एसआइटी मामले की जांच करेगी।

Similar Posts