आश्रम पद्धति विद्यालयों में घोटालों की जांच शुरू

प्रयागराज। समाज कल्याण में एक और घोटाला सामने आया है। इस बार आश्रम पद्धति विद्यालयों में वित्तीय वर्ष 2019-20 से वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान अनुदान संख्या 80 व 83 के लिए जारी धनराशि के दुरुपयोग का मामला सामने आया है। मामले में आश्रम पद्धति विद्यालयों की ओर से सहयोग न करने और घोटाले में करोड़ों की धनराशि के हेरफेर की आशंका के मद्देनजर शासन ने इसकी जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है।

एसआईटी सोमवार की शाम प्रयागराज आ गई है। मंगलवार से जांच शुरू करेगी।
प्रयागराज में आश्रम पद्धति के शंकरगढ़, कोरांव, करछना और कौड़िहार में चार विद्यालय हैं। इन विद्यालयों में तीन वित्तीय वर्षों में अनुदान संख्या 80 व 83 के तहत शासन से धनराशि अवमुक्त की गई थी।
धनराशि के दुरुपयोग की शिकायत हुई तो समाज कल्याण विभाग के निदेशालय ने इस साल 29 अप्रैल को एक जांच कमेटी गठित की जिसके अध्यक्ष निदेशालय में तैनात तत्कालीन समाज कल्याण अधिकारी अलख निरंजन मिश्र व सदस्य गजेंद्र कुमार द्विवेदी और विवेक कुमार थे। कमेटी को एक सप्ताह में रिपोर्ट पेश करनी थी।

Similar Posts