दस हजार रुपए में गुजारा नहीं,40 हजार करे शिक्षामित्रों को मानदेय,विधायक ने शिक्षामित्रों की बातों को मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का भरोसा दिया।

बेसिक शिक्षा विभाग अक्तूबर 10, 2022
 अपनी विभिन्न समस्याओं को लेकर शिक्षामित्रों ने रविवार Sunday को क्षेत्रीय विधायक केतकी सिंह से मैरीटार स्थित उनके आवास पर मुलाकात की और मांग पत्र दिया। विधायक ने शिक्षामित्रों shikshamitro की बातों को मुख्यमंत्री CM तक पहुंचाने का भरोसा दिया।

शिक्षामित्रों ने विधायक को बताया कि पिछले 20-22 वर्षों years से वे प्राथमिक विद्यालयों vidyalaya में कार्यरत हैं। सभी के पास शिक्षक Teacher बनने के लिए आवश्यक योग्यता, स्नातक व बीटीसी btc की डिग्री है। इसके बावजूद उन्हें मात्र 10 हजार रुपए में काम करना पड़ रहा है। उनके मानदेय manday में पिछले पांच वर्ष में एक रुपये की भी बढ़ोतरी नहीं हुई है। इतने कम पैसे में परिवार का भरण-पोषण संभव नहीं हो पाता। शिक्षामित्रों ने प्रतिमाह 40 हजार मानदेय दिलाने की मांग की। इसके साथ महिला शिक्षामित्रों को उनके ससुराल के पास के विद्यालय में स्थानांतरित करने, पुरुष शिक्षामित्रों को मूल विद्यालय Vidyalaya में वापसी के लिए एक अवसर देने, आकस्मिक अवकाश को शिक्षकों की तरह 1 जनवरी से 31 दिसंबर तक मान्य करने की भी मांग की। विधायक ने भरोसा दिया कि वह बहुत जल्द मुख्यमंत्री CM से मिलकर शिक्षामित्रों की समस्याओं के समाधान का प्रयास करेंगी।

Similar Posts