नकल विहीन पीईटी की जिम्मेदारी डीएम को सौंपी

मुख्य सचिव यह भी निर्देश दिया कि इसके साथ ही अभ्यर्थियों के आने व जाने के लिए किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए ट्रांसपोर्ट की विशेष तौर से तैयारी पूरी कर ली जाए। सभी जिलों में कानून व्यवस्था बरकरार रखने के साथ शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा होनी चाहिए।

लखनऊ, विशेष संवाददाता। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने समूह ‘ग’ के पदों पर भर्ती के लिए 15 व 16 अक्तूबर को होने वाली प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (पीईटी) की तैयारियों के संबंध में बुधवार को मंडलायुक्तों व जिलाधिकारियों से जानकारी ली। सभी जिलों के डीएम को निर्देश दिया गया कि नकलविहीन परीक्षा के लिए सभी जरूरी इंतजाम किए जाएं।
मुख्य सचिव और आयोग के अध्यक्ष ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पीईटी प्रदेश के सभी जिलों में 1900 परीक्षा केंद्रों पर होगी। इसमें 37 लाख अधिक अभ्यर्थी शामिल होंगे। परीक्षा दो पालियों में होगी।

Similar Posts