बेसिक के लिपिक से दो लाख रुपये की रिकवरी

हमीरपुर। बीएसए कार्यालय में तैनात लिपिक के वेतनमान निर्धारण में हुई गड़बड़ी की शिकायत मुख्यमंत्री जनता दरबार में की गई थी। जिसपर एडी बेसिक ने वित्त एवं लेखाधिकारी को जांच करने के निर्देश दिए थे।

जांच आख्या में लिपिक द्वारा वेतनमान वर्ष 2010 से जनवरी 2022 तक करीब दो लाख की धनराशि अधिक निकाले जाने रिपॉट सौंपी गई थी। जिसमें सचिव बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा धनराशि की रिकवरी कराते हुए धनराशि राजकोष में जमा कराए जाने के निर्देश बीएसए को दिए हैं। 
राठ कस्बा निवासी  शिकायतकर्ता मनोज कुमार ने पिछले 22 अप्रैल को मुख्यमंत्री जनता दरबार में शिकायत कर बीएसए कार्यालय में तैनात लिपिक की सेवा पंजिका में दर्ज नियुक्ति, पदोन्नति चयन वेतनमान, एसीपी, प्रोन्नत वेतनमान के निर्धारण की सूक्ष्म जांच कराए जाने की मांग की थी जिसमें एडी बेसिक रामपाल ने वित्त एवं लेखाधिकारी एमडी कसेरा को जांच सौंपी थी। जांच अधिकारी एमडी कसेरा ने बताया कि वेतन निर्धारण में हुई गड़बड़ी के चलते लिपिक कन्हैयालाल के वेतन में अधिक भुगतान हो गया है। कहा कि वर्ष 2010 से जनवरी 2022 तक करीब दो लाख को रिकवरी को जानी है जिसकी वसूली उनके वेतन से किए जाने की संस्तुति की गई है।

Similar Posts