सुधर जाओ वर्ना कभी नहीं हो पाओगे बहाल, जिले में बदहाल शिक्षा व्यवस्था देख दंग रह गए महानिदेशक स्कूली शिक्षा, 19 बीईओ का वेतन रोकने का आदेश

सीतापुर / खैराबाद। महानिदेशक स्कूली शिक्षा विजय किरण आनंद सोमवार को जिले की बदहाल शिक्षा व्यवस्था देखकर दंग रह गए। स्कूलों के जर्जर भवन, बाउंड्रीविहीन स्कूल, टूटे पड़े शौचालय के दरवाजों को देखकर उनका पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। बीईओ की कार्यशैली पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि सुधर जाओ वर्ना ऐसा लिख दूंगा कि कभी बहाल नहीं हो पाओगे।

महानिदेशक ने एक माह के अंदर जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण का आदेश दिया और तब तक सभी 19 बीईओ का वेतन रोकने के लिए बीएसए को निर्देशित किया। इस निरीक्षण से पूरे जनपद में शिक्षक दिनभर परेशान रहे। वे पल-पल को अपडेट लेते रहे। महानिदेशक ने निरीक्षण के बाद डायट परिसर में दोपहर में आयोजित बैठक में एक-एक कर सभी को क्लॉस लो। उन्होंने बीईओ सकरन ओमकार सिंह के विकासखंड में मिले जमकर फटकार लगाई।
जर्जर विद्यालय व शौचालय को देखकर
उन्होंने सभी बीईओ से पूछा कि बताओ किस विकासखंड में सभी जर्जर विद्यालय बहा दिए गए हैं। एक भी बीईओ ने हाथ नहीं उठाया। इस पर जमकर लताड़ लगाई और कहा कि सभी एक जैसे हैं। बोले, एक माह का समय देते हैं, तब तक स्कूल गिरवा दिए जाए वर्ना ऐसा लिख देंगे कि कभी बहाल नहीं होगे। बीएसए से कहा कि तब तक इनका इस माह का वेतन रोक दो। इस दौरान डायट प्राचार्य ओपी यादव, बीएसए अजीत कुमार, डीआईओएस राजेंद्र सिंह समेत सभी बीईओ, एआरपी, एसआजी व डीसी मौजूद रहे।
अगस्त में फिर आऊंगा, व्यवस्थाएं दुरुस्त कर लें स्कूलों में रखी मिलो संदर्शिका पर एआरपी व एसआरजी पर भड़ास निकाली। बोले, यह आपका आउटपुट है। स्कूलों में मटेरियल रखा हुआ है। जिले के सभी एआरपी व एसआरजी को बर्खास्त कर दूंगा, हटाने में……
पढ़ें  विस्तृत खबर…..

Similar Posts