शिक्षकों पर शिकंजा कसना शुरू , अब माध्यमिक स्कूलों के शिक्षक भी बनाएंगे डायरी

 

बस्ती। माध्यमिक स्कूलों में शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए शासन ने शैक्षिक सत्र 2024-25 के लिए एकेडमिक कैलेंडर जारी कर दिया है। साथ ही, शिक्षकों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अब माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को भी परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों की तरह डायरी बनानी होगी। इसमें शैक्षिक कार्य से लेकर शिक्षण व्यवस्थाओं का लिखा जाएगा।

जिले में 23 राजकीय, 70 सहायता प्राप्त, 308 वित्तविहीन विद्यालय संचालित होते है। शिक्षकों की डायरी को प्रधानाचार्य नियमित जांच करेंगे। डायरी में शिक्षकों को हर महीने कितना पाठयक्रम पढ़ाना है, कितना पढ़ाया जा चुका है, यह सब लिखना होगा। अगले दिन किस टॉपिक को कक्षा में विद्यार्थियों को पढ़ाना है यह भी लिखना होगा। इसके लिए पहले से तैयारी करनी होगी। शिक्षकों को अपनी शैक्षणिक कार्ययोजना भी लिखनी होगी।

डीआईओएस जगदीश शुक्ला ने बताया कि बोर्ड की ओर से शैक्षिक कैलेंडर जारी कर दिया गया है। सभी माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को अपनी डायरी बनाने के निर्देश दिए गए हैं। इसका उद्देश्य शैक्षिक कैलेंडर के अनुसार विद्यार्थियों को पठन-पाठन कराने के साथ ही विद्यालयों में शिक्षा का स्तर बेहतर बनाना है। वहीं उनके स्तर से भी समय-समय पर विद्यालयों में शिक्षकों की डायरी का परीक्षण किया जाएगा।

Similar Posts