जिस प्राथमिक स्कूल में पढ़े थे पिता, पुत्र ने उसका कराया कायाकल्प

कमालपुर। जिस स्कूल में पिता ने पढ़ाई की भी उसी धानापुर विकासखंड के पूर्वी महडच परगना के सिसौड़ा स्थित कम्पोजिट विद्यालय ने को पुत्र ने स्मार्ट स्कूल बना दिया।

पुत्र ने स्कूल में स्मॉट क्लास, स्मार्ट टीवी के साथ टेबल, बैंच, पंखे, कैंपस में रंगीन इंटरलाकिंग की ईंटें व विद्यालय की पेंटिंग करा कायाकल्प कर दिया। गांव के यमुना सिंह की प्राथमिक शिक्षा कम्पोजिट विद्यालय में हुई थी। आगे की पढ़ाई कर मे कोलकाता में नौकरी करने नगे। उनके पुत्र भी उनके साथ ही रहने लगे। उनके पुत्रों में पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर व बंगल में रहने वाले पुत्र अनिल कुमार सिंह ने यह कार्य किया है। अनिल ने कहा कि माता-पिता की वजय से ही जीवन मिला है। इसलिए उन्होंने पिता की याद में स्कूल का कायाकल्प करने का संकल्प लिया है। बताया कि स्कूल के लिए दिल्ली में उच्च क्वालिटी के 156 टेबल व मंगवाए गए हैं। स्मार्ट क्लास के लिए आई ड्रीम कंपनी का सहयोग लिया जा रहा है। कहा कि सरकारी विद्यालयों में अध्यापकों की कमी रहती है। ऐसी स्थिति में बच्चे स्मार्ट क्लासों में स्वयं पढ़ लेंगे।
विद्यालय के प्रधानाध्यापक यमुना सिंह के पुत्र अनिल सिंह ने करीब 8 लाख से विद्यालय का कायाकल्प कराया है।

Similar Posts