भोजन की गुणवत्ता में खामी की शिकायत की तो बंद किया एमडीएम

 मारहरा मध्यान भोजन की गुणवत्ता में खामी की शिकायत की तो इसका वितरण ही बंद करा दिया। मामला कस्बा स्थित एमजीएचएम इंटर कॉलेज का है जहां बृहस्पतिवार के बाद से भोजन नहीं भेजा गया है।

शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए परिषदीय और सहायता प्राप्त विद्यालय में मध्याहन भोजन वितरित कराया जाता है। लेकिन इसमें तमाम शिकायतें और झोल बनी हुई है। हाल ही में अलीगंज ब्लॉक के गांव मंगला बनी और फरसौली में महीनों तक मध्यान भोजन न बनने के मामले सामने आ चुके हैं। इधर, कस्बे के एमजीएचएम
इंटर कॉलेज में भी आठवीं तक के बच्चों को मध्याहन भोजन नहीं मिल पा रहा है। बच्चों को भोजन उपलब्ध कराने का जिम्मा विभाग की ओर से एक संस्था को दिया गया है। आरोप है कि संस्था द्वारा भोजन काफी पटिया गुणवत्ता का उपलब्ध कराया जा रहा था बृहस्पतिवार को जो तहरी भेजी गई वो खराब थी। इसको लेकर टोका गया और अधिकारियों को दिखाने के लिए इसके सैंपल ले लिए। इसके बाद से संस्था की ओर से यहां मध्याहन भोजन भेजा ही नहीं गया। बच्चे अपने घर से टिफिन लेकर आ रहे हैं।

Similar Posts