विभागीय कार्यों के लिए शिक्षकों के निजी मोबाइल के प्रयोग पर लगायी जाए रोक

 बाराबंकी। (डॉक्टर रेहान अलवी) उत्तर प्रदेशीय जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधि मंडल ने महानिदेशक स्कूल शिक्षा कंचन वर्मा, प्रभारी शिक्षा निदेशक (बेसिक) गणेश कुमार एवं सचिव उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद प्रताप सिंह बघेल से भेंट की। प्रतिनिधि मंडल ने अधिकारियों से टेबलेट / स्मार्ट फोन के द्वारा पंजिकाओं के डिजिटाईजेशन एवं ऑनलाइन उपस्थिति को लेकर विरोध दर्ज कराते हुए कहा बिना पर्याप्त टेबलेट एवं सीयूजी सिम दिए बगैर शिक्षकों के स्मार्ट फोन से विभागीय सूचनाएं लिए जाने पर रोक लगायी जाये।

शिक्षकों के लिए अर्ध दिवस आकस्मिक अवकाश, अर्जित अवकाश अनुमन्य किए जायें तथा तीन दिन विलम्ब से उपस्थित होने की दशा में उनका एक आकस्मिक अवकाश निरस्त माना जाये। संगठन द्वारा पदोन्नति के मुद्दे पर चर्चा के दौरान सचिव, उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा अवगत कराया गया कि टीईटी और नॉन टीईटी दोनों प्रकार के शिक्षकों की पदोन्नति की जाएगी।
प्रतिनिधि मंडल द्वारा जूनियर के प्रधानाध्यापक पद पर पदोन्नति की मांग की गई। जिस पर सचिव द्वारा कहा गया कि माननीय उच्च न्यायालय में पैरवी कर शीघ्र पदोन्नति करायी जायेगी। प्रतिनिधि मंडल में प्रांतीय उपाध्यक्ष संजय मणि त्रिपाठी, प्रांतीय महामंत्री अरुणेंद्र कुमार वर्मा, प्रांतीय कोषाध्यक्ष मजहर मुहम्मद खां, प्रांतीय कार्यालय मंत्री आशीष सिंह, मंडल महामंत्री कानपुर महेन्द्र वर्मा, जिलाध्यक्ष फर्रुखाबाद प्रवेश कटियार मौजूद रहे।

Similar Posts